मैट्रिमोनियल वेबसाइट के जरिये 100 महिलाओं को शादी का झांसा, 25 करोड़ की ठगी

0
978

दो नाइजीरियाई समेत कुल तीन गिरफ्तारियों ने देश भर के कई राज्यों में 30 से 35 खातों का पता लगाया।

आरोपी के भीतर…

शाहदरा जिला पुलिस ने शादी के बहाने देश भर में 100 से ज्यादा लड़कियों से 25 करोड़ से ज्यादा की ठगी करने के आरोप में दो नाइजीरियाई विदेशियों समेत कुल तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. आरोपियों की पहचान लॉरेंस चिके नालुआ (30), अयोटुंडे ओकुंडे उर्फ ​​एलेक्स (34) और दिल्ली निवासी दीपक दीक्षित (29) के रूप में हुई है।

पुलिस ने आरोपियों के पास से छह बैंक डेबिट कार्ड, 5 स्वाइप मशीन, एक लैपटॉप कंप्यूटर और एक गोली बरामद की है। आरोपी 35 साल और उससे अधिक उम्र की लड़कियों को वैवाहिक वेबसाइट के जरिए अपने झांसे में लेता था। इसके बाद आरोपित पीड़ितों की मजबूरी का हवाला देकर उनकी भावनाओं का फायदा उठाकर उनसे बड़ी रकम वसूल करता था। बाद में आरोपी अपना नंबर बदल लेते थे। पुलिस गिरफ्तार आरोपित से पूछताछ कर मामले की जांच कर रही है।

शाहदरा जिले के पुलिस उपायुक्त आर. सत्यसुंदरम ने बताया कि शालू (35) (बदला हुआ नाम) ने जगतपुरी थाने में धोखाधड़ी की शिकायत दी थी. पीड़िता ने बताया कि उसने शादी डॉट कॉम पर अपनी शादी के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था। इस दौरान एक युवक एनआरआई बताकर उसके पास पहुंचा। सब आपस में बातें करने लगे। इसके बाद आरोपी ने उसे वाट्सएप पर कॉल करना शुरू कर दिया।

कुछ दिनों बाद आरोपी खुद को परेशान बताते हुए पीड़िता से रुपये मांगने लगा। आरोपित धीरे-धीरे पीड़िता को भड़काकर पैसे की उगाही करने लगा। यहां तक ​​कि शालू ने मुथूट फाइनेंस पर अपने जेवर रख कर कर्ज भी लिया और आरोपितों के खातों में राशि ट्रांसफर कर दी। बहुत दिनों तक यही चलता रहा। आरोपी ने पीड़िता से करीब 15 लाख रुपये रंगदारी वसूल की। इसके बाद भी जब उसने पैसे मांगना शुरू किया तो पीड़ित को शक हुआ। पीड़िता ने पूछताछ की तो आरोपितों ने फोन बंद कर दिया।

शिकायत मिलने के बाद शाहदरा जिला पुलिस ने जांच शुरू की। जिले के साइबर सेल में तैनात एसआई राहुल व अन्य ने अलग-अलग खातों में राशि ट्रांसफर की थी। बैंक खातों की जानकारी, उनके केवाईसी के माध्यम से पता चला कि आरोपियों ने देश के कई राज्यों में लगभग 30 से 35 खाते खोले हैं। ये लोग केवल इन खातों में पैसे मांगते हैं और दिल्ली में अलग-अलग जगहों से एटीएम के जरिए पैसे निकालते हैं। कुछ जगहों पर स्वाइप मशीन का भी इस्तेमाल किया जाता है। लंबी जांच के बाद पुलिस ने एक नाइजीरियन और एक दिल्ली निवासी को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के दौरान आरोपी ने देशभर की 100 से ज्यादा महिलाओं से 25 करोड़ रुपये ठगने की बात कबूल की।

ऐसे दी गई बेइमानी का गुनाह…

पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला कि आरोपी एलेक्स और लॉरेंस ने ठगी करने के लिए अलग-अलग वैवाहिक साइटों पर फर्जी प्रोफाइल बनाई थी। यहां ये लोग खुद को एनआरआई और डॉक्टर या इंजीनियर बताते थे। आमतौर पर उन्हें एक बड़े बिजनेसमैन के रूप में भी जाना जाता था। ये लोग बड़ी उम्र की लड़कियों पर ध्यान केंद्रित करते थे जो या तो विधवा हो चुकी हैं या जिनकी शादी नहीं हुई है। आसानी से लालच में फंसने के बाद कभी विदेश से महंगे तोहफे भेजने के नाम पर तो कभी मजबूरी बताकर पीड़ितों की भावनाओं का फायदा उठाते थे। लड़कियां सिर्फ लालच में फंसकर पैसे दे देती थीं।

दीपक 10% फीस पर स्वाइप मशीन और अकाउंट ऑफर करता था।

आरोपी ठगी का काफी पैसा नाइजीरिया भेज देता था। फर्जी पतों के आधार पर आरोपियों ने अपने खाते उत्तर-जापानी राज्यों, दक्षिण भारतीय राज्य के बैंकों में खोले थे। उन खातों में कैश ट्रांसफर किया गया। बदले में प्रत्येक को 10 प्रतिशत शुल्क देना होता था। दीपक हर नाइजीरियाई नागरिक को बैंक खाते और स्वाइप मशीन मुहैया कराता था। पुलिस गिरफ्तार तीनों आरोपितों से पूछताछ कर मामले की जांच कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here