बच्चों संग वीडियो शूट पर बाल अधिकार आयोग ने कोविड प्रोटोकॉल को लेकर उठाए सवाल

0
1016

युवाओं के अधिकारों की सुरक्षा के लिए राष्ट्रव्यापी शुल्क के अध्यक्ष प्रियांक कानूनगो की ओर से दिल्ली सरकार को एक शिकायत पत्र लिखा गया है कि कोविड-19 प्रोटोकॉल के दौरान इस तरह की वीडियो शूट करना सरकार द्वारा निर्धारित कोविड-19 प्रोटोकॉल का सीधा उल्लंघन है. केंद्रीय प्राधिकरण। फीस ने इसे किशोर न्याय अधिनियम 2015 के तहत अनुचित माना है।

दिल्ली सरकार ने अपने सरकारी स्कूलों में देशभक्ति पाठ्यक्रम शुरू कर दिया है। दिल्ली के छात्रों के साथ मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसे लेकर एक वीडियो भी शूट किया था। हालांकि युवाओं के अधिकारों की सुरक्षा के लिए राष्ट्रव्यापी शुल्क ने कोरोना काल में इसकी शूटिंग पर आपत्ति जताई है। आयोग ने इसे कोविड-19 प्रोटोकॉल का उल्लंघन बताते हुए दिल्ली सरकार से जवाब मांगा है।

युवाओं के अधिकारों की सुरक्षा के लिए राष्ट्रव्यापी शुल्क के अध्यक्ष प्रियांक कानूनगो की ओर से दिल्ली सरकार को एक शिकायत पत्र लिखा गया है कि कोविड-19 प्रोटोकॉल के दौरान इस तरह की वीडियो शूट करना सरकार द्वारा निर्धारित कोविड-19 प्रोटोकॉल का सीधा उल्लंघन है. केंद्रीय प्राधिकरण। शुल्क ने इसे किशोर न्याय अधिनियम 2015 के तहत अनुचित बताया है। शुल्क ने दिल्ली सरकार से इस संबंध में त्वरित कार्रवाई करने और एक सप्ताह के भीतर शुल्क से पहले की गई कार्रवाई की रिपोर्ट दर्ज करने का अनुरोध किया है।

दरअसल, दिल्ली सरकार ने अपने छात्रों में देशभक्ति की भावना जगाने के लिए देशभक्ति का कोर्स शुरू कर दिया है। इसके तहत छात्रों को देशभक्त राष्ट्रीय वीरों के बारे में जानकारी दी जाती है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस विषय के प्रचार-प्रसार को लेकर छात्रों के साथ एक वीडियो शूट किया था। दिल्ली ही नहीं देश के अलग-अलग बोर्डों में इस प्रयास की सराहना हो रही है। हालांकि एक निगम ने कोविड-19 के दौरान इस तरह की शूटिंग पर आपत्ति जताते हुए फीस को लेकर शिकायत दर्ज कराई थी। इस शिकायत पर संज्ञान लेते हुए फीस ने दिल्ली सरकार को तुरंत नोटिस जारी किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here