पीएम मोदी बोले- कोरोना काल में आपसी संबंध और मजबूत हुए, 2022 को ‘आसियान-भारत मित्रता वर्ष’ के रूप में मनाएंगे

0
990

पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए भारत-आसियान शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि दुनिया अभी भी कोरोना से जूझ रही है. भारत को भी कोरोना काल में कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 18 वें आसियान-भारत शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि भारत के आसियान देशों के साथ लंबे समय से संबंध हैं। पीएम मोदी ने कहा कि इतिहास गवाह है कि भारत और आसियान के बीच सैकड़ों वर्षों से जीवंत संबंध रहे हैं। उनकी झलक हमारे साझा मूल्यों, परंपराओं, भाषाओं, ग्रंथों, संरचना, परंपरा, भोजन और पेय को प्रस्तुत करती है। आसियान की एकता और केंद्रीयता हमेशा से भारत के लिए एक महत्वपूर्ण प्राथमिकता रही है। कोरोना काल में आपसी संबंध मजबूत हुए हैं।

पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए भारत-आसियान शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि दुनिया अभी भी कोरोना से जूझ रही है. भारत को भी कोरोना काल में कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा। कोरोना महामारी के बाद आर्थिक बहाली समेत महत्वपूर्ण क्षेत्रीय और वैश्विक घटनाक्रम पर भी मंथन हो सकता है।

पीएम मोदी ने कहा कि 2022 के साल में हमारी साझेदारी के 30 साल पूरे होंगे। भारत को अपनी आजादी के 75 साल भी पूरे हो सकते हैं। मुझे बहुत खुशी है कि हम ‘आसियान-भारत मैत्री के 12 महीने’ के रूप में इस महत्वपूर्ण मील के पत्थर का आनंद लेंगे।

इन बिंदुओं के बारे में बात करें

18वां आसियान-भारत शिखर सम्मेलन कोरोनावायरस महामारी, विश्वव्यापी सुधार, कंपनियों और विभिन्न बिंदुओं पर केंद्रित है। इसके साथ-साथ, सम्मेलन रणनीतिक साझेदारी की स्थिति का अवलोकन करेगा, स्वास्थ्य, वाणिज्य और वाणिज्य, कनेक्टिविटी और स्कूली शिक्षा और परंपरा सहित प्रमुख क्षेत्रों में हुई प्रगति के बारे में बात करेगा।

विदेश दौरे पर जाएंगे पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को इटली और ब्रिटेन के पांच दिवसीय दौरे पर रवाना होंगे। इस दौरान वह जी-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। 2 दिवसीय शिखर सम्मेलन इटली में 30 अक्टूबर से शुरू हो रहा है। इसके बाद वह ब्रिटेन के ग्लासगो के दौरे पर जाएंगे। माना जा रहा है कि पीएम मोदी जी-20 की अहम बैठक में दुनिया से अफगानिस्तान पर साझा रणनीति अपनाने का आह्वान करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here