पंजाब में बड़ा सियासी घटनाक्रम: अमरिंदर सिंह से अचानक मिलने पहुंचे सीएम चन्नी, हाईकमान से मिलेंगे सिद्धू

0
999

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का काफिला अचानक मोहाली के सिसवान में कैप्टन अमरिंदर सिंह के फार्म हाउस पहुंचा।

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने गुरुवार को मोहाली के सिसवान में कैप्टन अमरिंदर सिंह के फार्म हाउस का दौरा किया। मुख्यमंत्री बनने के बाद कैप्टन के साथ चन्नी की यह पहली मुलाकात होगी। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने चन्नी के शपथ ग्रहण कार्यक्रम और बेटे की शादी से भी दूरी बना ली थी, लेकिन इस बैठक ने पंजाब की राजनीति को गर्मा दिया है।

विधानसभा का समय है जरूरी

कैप्टन अमरिंदर सिंह और चरणजीत सिंह चन्नी की मुलाकात का समय महत्वपूर्ण है। एक तरफ जहां नवजोत सिंह सिद्धू आज (गुरुवार) आलाकमान के सामने नजर आएंगे, वहीं दूसरी तरफ चन्नी और कैप्टन की उससे ठीक पहले मुलाकात की खबरों ने सियासी पारा चढ़ा दिया है। प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू पहली बार आलाकमान से मिलेंगे. कहा जा रहा है कि इस बार पार्टी में सिद्धू के लिए राजनीतिक रास्ता तय किया जाएगा।

कैप्टन ने की चन्नीक की तारीफ

मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू पर निजी हमला किया लेकिन उन्होंने कई मौकों पर चन्नी की तारीफ की है. कैप्टन ने चन्नी को अद्भुत और पढ़ा-लिखा मंत्री बताया था। बहरहाल, इस दौरान उन्होंने कहा था कि चन्नी को गृह मामलों की थोड़ी समझ है।

चन्नी सरकार के फैसलों से सिद्धू खफा

चन्नी सरकार ने प्रदेश के डीजीपी का प्रभार इकबालप्रीत सिंह सहोटा को सौंपा। वरिष्ठ अधिवक्ता एपीएस देओल को एडवोकेट कॉमन बनाया गया। सिद्धू इन दोनों फैसलों से बेहद खफा थे। यही वजह है कि उन्होंने अचानक प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा देकर आलाकमान को झटका दिया था। अब तक सिद्धू ने न तो इस्तीफा वापस लिया है और न ही आलाकमान ने कोई फैसला लिया है। इसी दौरान बिजली के मुद्दे पर सिद्धू ने चन्नी सरकार को घेर लिया।

कप्तान और चन्नी इस चिंता पर ध्यान दे सकते हैं

केंद्र सरकार ने पंजाब समेत तीन राज्यों में बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र बढ़ा दिया है। इसके बाद से राज्य में सियासत तेज हो गई है. पंजाब सरकार ने इसे राज्यों के अधिकार क्षेत्र में दखल बताया तो कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस फैसले की तारीफ की। पंजाब में पहले बीएसएफ को वर्ल्डवाइड बॉर्डर से 15 किमी के दायरे में जाने की इजाजत थी, लेकिन अब इस रेंज को घटाकर 50 किमी कर दिया गया है। कहा जा रहा है कि इस मसले पर चन्नी कैप्टन से बात करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here