दिल्ली-एनसीआर : प्रदूषण नियंत्रण के लिए आज से ग्रेप लागू, कई गतिविधियों पर पूर्ण प्रतिबंध

0
1021

केंद्रीय वायु प्रदूषण प्रबंधन बोर्ड (सीपीसीबी) की उप समिति ने यह सुझाव दिया है। दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषणकारी गतिविधियों पर गहन नजर रखने के निर्देश।

दिल्ली वायु प्रदूषण

वायु प्रदूषण से निपटने के लिए शुक्रवार से दिल्ली-एनसीआर में ग्रेडेड रिस्पांस मोशन प्लान (ग्रेप) लागू किया जा सकता है। इसके तहत प्रदूषणकारी गतिविधियों पर नियंत्रण के साथ ही एनसीआर में प्रदूषण फैलाने वालों पर पैनी नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं. इस मुद्दे पर अगले सप्ताह बैठक होगी और नए प्रावधानों पर फैसला लिया जाएगा।

दिल्ली-एनसीआर में जीआरएपी हर साल 15 अक्टूबर से 15 मार्च के बीच लगाया जाता है, जब हवा गरीब वर्ग में पहुंचती है। बहरहाल, आज एयर हाई क्वालिटी इंडेक्स पासेबल कैटेगरी में बना हुआ है।

वायु प्रदूषण की रोकथाम के लिए केंद्रीय वायु प्रदूषण प्रबंधन बोर्ड (सीपीसीबी) के सदस्य सचिव डॉ. प्रशांत गर्गव की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक के माध्यम से 15 अक्टूबर से जीआरएपी दिशानिर्देशों को लागू करने की सिफारिश की गई है। मौसम विभाग के वीके सोनी के मुताबिक अगले दो दिनों में दक्षिण-पूर्व से हवाएं चलेंगी।

अगले सप्ताह बैठक के बाद वायु प्रदूषण नियंत्रण पर और निर्णय लिए जा सकते हैं

हवा की उच्च गुणवत्ता अगले 5 दिनों के लिए निष्क्रिय श्रेणी में रहने की संभावना है
17 और 18 अक्टूबर को हल्की बारिश संभव
वायु प्रदूषण प्रबंधन के लिए बोर्ड के विकल्प

सराय और ढाबों में कोयले और लकड़ी का इस्तेमाल बंद
खुले में कूड़ा जलाने पर रोक लगनी चाहिए
बस और मेट्रो का किराया बढ़ाएं
दिल्ली-एनसीआर में ईंट भट्ठों पर पूर्ण प्रतिबंध
उद्योगों और ऊर्जा फसलों में वायु प्रदूषण प्रबंधन आवश्यकताओं का कड़ाई से पालन
पीयूसी मानदंडों को सख्ती से अपनाया जाएगा
प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों को जब्त कर भारी जुर्माना
सड़क किनारे कीचड़ पर छिड़का पानी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here